Comments (2) | Like (21) | Blog View (130) | Share to:

लिक्विड शुगर:- हृदय रोग, मोटापे और डायबिटीज का खतरा सबसे ज्यादा

शुगरी ड्रिंक पीने से मात्र 20 मिनट में शुगर बढ़ जाती है, हृदय रोग का खतरा 38 प्रतिशत ज्यादा, रात में पीना खतरनाक

इंसानी पाचन तंत्र लिक्विड कैलोरी के लिए बना ही नहीं है। सोडा, स्पोर्ट ड्रिंक्स, जूस और दूसरे मीठे पेय पदार्थ पीने से भूख नहीं मिटती। वहीं इन शुगरी ड्रिंक के साथ यदि व्यक्ति की सिटिंग लंबी है तो उसे लाइफ स्टाइल से संबंधित बीमारियों जैसे कि डायबिटीज, हाइपर टेंशन, किडनी से संबंधित रोग का खतरा बढ़ता है। ब्रिटिश फार्मासिस्ट नीरज नाइक द्वारा किए गए एक शोध् में पता चला कि कोक के 350 एमएल के एक केन में लगभग 37 ग्राम कंसंट्रेट शुगर यानी लगभग 10 चम्मच के बराबर चीनी होती है। यही नहीं मात्रा एक केन कोक पीने भर से 20 मिनट में व्यक्ति की शुगर का स्तर बढ़ जाता है। कोक जैसे सभी साॅ­फ्ट ड्रिंक में पाया जाने वाला कैफीन 40 मिनट में शरीर में अवशोषित हो जाता है। इससे डोपामाइन हार्मेन बढ़ता है, जिससे इसे और पीने की इच्छा जागती है। परीक्षण में यह बात सामने आई कि साॅफ्रट ड्रिंक भी व्यक्ति को नशे की तरह एडिक्ट बनाते हैं।

लिक्विड शुगर से जुड़ा सब कुछ जो आपको जानना चाहिए

क्या है लिक्विड शुगर?

पेय के रूप में मिलने वाले लगभग सभी मीठे पदार्थ लिक्विड शुगर है

सोडा, कोल्ड ड्रिंक, चाय से लेकर चीनी से तैयार होने वाले लगभग सही तरह के शेक, फ्रूट पंच आदि सभी लिक्विड शुगर ही हैं। बिना चीनी के फ्रूट जूस भी लिक्विड शुगर हैं। इनमें शुगर काँसंट्रेटेड फार्म में होती है जिससे शरीर का कैलोरी इंटेक बढ़ता है यह कई तरह की समस्याओं का कारण बनता है।

शुगर का सेहत पर क्या असर?

मोटापा, डायबिटीज का खतरा सबसे ज्यादा

लिक्विड शुगर वजन को नियंत्रित करने वाले हार्मोन लेप्टिन को प्रभावित करता है, जिससे कुछ समय में व्यक्ति को अधिक कैलोरी खाने का अहसास होना बंद हो जाता है। इससे मोटापा बढ़ता है। शोध् के अनुसार अधिक शुगर लेने वाले व्यक्ति में हृदय संबंधी रोग का खतरा 38% अधिक होता है।

शुगरी ड्रिंक में कितनी शुगर?

350 एमएल के एक केन में 10-13 चम्मच चीनी

ब्रिटश शोध् के अनुसार एक सामान्य आकार के साॅफ्ट ड्रिंक के केन में लगभग 10 से 13 चम्मच तक चीनी होती है। इस चीनी से शरीर में बढ़ी कैलोरी की मात्रा से ओबेसिटी हाइपोवेंटिलेशन सिंड्रोम (ओएसएच) का खतरा बढ़ता है। इससे व्यक्ति में मोटापा का खतरा तेजी से बढ़ता है।

रात में कितना नुकसानदायक?

कैफीन होता है, नींद संबंधी बीमारियां बढ़ती है

स्लीप फाउंडेशन के अनुसार 96 प्रतिशत साॅफ्ट ड्रिंक में कैफीन बढ़ी मात्रा में होता है। कैफीन अलर्टनेस बढ़ाता है। ऐसे में रात के समय साॅफ्रट ड्रिंक जैसे कि कोक, सोडा आडि पीने से अनिन्द्रा की शिकायत बढ़ती है। वहीं अन्य शुगरी ड्रिंक रात में पीने से शारीरिक गतिविध सीमित होने के कारण शुगर का खतरा बढ़ता है।

Comments

Avnish 2 months ago

This is True....

Narendra Arora 2 months ago

Very Nice...


Post a Comment

Your comment was successfully posted!

LOGIN TO E-SERVICES